Columns

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा हमने स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू किया डेढ़ गुना ज्यादा कीमत पर खरीद रहे फसल मोदी सरकार किसान का नुकसान नहीं होने देगी’

कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच ‘आत्मनिर्भर भारत’ पर आयोजित विशेष कार्यक्रम में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार किसानों से उनकी लागत से डेढ़ गुना ज्यादा कीमत पर फसल खरीद रही है जबकि यूपीए के 10 साल के शासनकाल में कांग्रेस ने स्वामीनाथन की रिपोर्ट को लागू तक नहीं किया था.

सरकार की ओर से खाद, यूरिया और डीजल आदि चीजों के महंगी होने और किसानों की लागत नहीं निकलने के आरोप पर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि प्रतिपक्ष को समझना चाहिए कि बरसों पहले एमएस स्वामीनाथन की रिपोर्ट आई थी जिसमें कहा गया कि किसानों की लागत का डेढ़ गुना एमएसपी उन्हें मिलना चाहिए. कांग्रेस यूपीए के जरिए 10 साल शासन में रही लेकिन उसने यह सुझाव नहीं माना.

कृषि मंत्री तोमर ने कहा कि आज फसल का जो समर्थन मूल्य तय होता है उसमें फसल का लागत मूल्य भी शामिल किया जाता है. हम लागत से डेढ़ गुना समर्थन मूल्य घोषित करते हैं. हम किसान को नुकसान नहीं होने देंगे. किसानों की फसल समर्थन मूल्य पर किसानों से खरीदी जा रही है.

मोदी सरकार नुकसान नहीं होने देगीः कृषि मंत्री

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि जहां तक मदद का सवाल है तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में बीजेपी सरकार किसानों के हित के लिए मजबूती के साथ खड़ी है और उसे कोई नुकसान नहीं होने दिया

उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि कांग्रेस की सरकार के समय किसानों के लिए कुछ भी नहीं किया गया. एमएसपी भी मुनाफेदार नहीं थी, हमने डेढ़ गुना एमएसपी की. वहीं सरकार की ओर से एक साल के भीतर 71 हजार करोड़ रुपये किसानों की जेब में डालने का काम किया.

साथ ही गजेंद्र सिंह शेखावत ने आत्मनिर्भर भारत मिशन के बारे में कहा कि इसके लिए जलशक्ति मंत्रालय नदियों के किनारे हर्बल खेती को बढ़ावा देगी. हर्बल खेती से पर्यावरण और किसानों को फायदा मिलेगा

सस्ते दामों के तेल हमने स्टोर कियाः धर्मेंद्र प्रधान

ई एजेंडा आजतक में एक अन्य सत्र में कोरोना की वजह से देश को हुए फायदे के बारे में बताते हुए केंद्रीय पेट्रोल मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि अभी कुल मिलाकर 38 मिलियन टन सस्ते दामों का तेल हमने स्टोर किया है. यह तेल स्टोरेज सेंटर और रिफाइनरी में है. जनवरी और अप्रैल के दामों को अगर हम कैलकुलेट करें तो 25 हजार करोड़ रुपये का फायदा भारत की जनता को हुआ है. जितना तेल (38 मिलियन टन) हमने स्टोर किया है, अगर हम आगे इस्तेमाल करेंगे तो हम देखेंगे कि वार्षिक आवश्यकता की एक चौथाई तेल को हमने स्टोर कर लिया है. इसका फायदा आने वाले समय में देश के लोगों को मिलेगा. भारत तेजी के साथ आत्मनिर्भर बन रहा है.

इसी तरह ई-एजेंडा आजतक के मंच पर आर्थिक पैकेज पर चर्चा करते हुए ​​केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि 20 लाख करोड़ का पैकेज 130 करोड़ की जनता वाले देश में जब घोषित होता है तो देश के हर वर्ग में उम्मीदें जगती हैं. कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने आगे कहा कि लॉकडाउन की घोषणा जब हुई थी तब सरकार की प्राथमिकता थी कि कोई भी गरीब भूखा ना सोए. इसके लिए एक लाख 70 हजार करोड़ का एक पैकेज प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत घोषित किया गया. 3 महीने का राशन 80 करोड़ नागरिकों तक पहुंचाने का प्रयास भारत सरकार ने किया. सरकार ने 20 करोड़ महिलाओं के खाते में तीन महीने तक पैसा पहुंचाया.

Advertisements

Email Subscriber

Latest

Advertisements